DPC Full Form In Civil Engineering क्या होता है || DPC meaning in Civil Engineering

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने हैं कि DPC Full Form In Civil Engineering में क्या होता है? और DPC meaning in Hindi क्या होता है पुरी जानकारी।दोस्तों वैसे तो भारत देश में लाखों प्रकार के full form का प्रयोग होता हैं इसके बारे मे आप जानते ही हैं और उसी में एक DPC भी word हैं।
दोस्तों हर व्यक्ति को इसका DPC Full Form In Civil Engineering क्या होता पता होना चाहिए और इसके साथ-साथ हि DPC Ka Full Form का पता होना बहुत जरुरी हैं क्युँकि विष्य मे कई बार इस श्ब्द का उपयोग होता हैं।
Hello, दोस्तों मेरा नाम Seemant Deshmukh है और आप सभी को allfullformworld.com website पर स्वागत है। यहां पर मेने आज DPC Full Form In Civil Engineering क्या होता है उसके बारे में जानकारी दिया हुँ।

DPC full form in Civil engineering

The DPC Full Form In Civil engineering is damp proof course होता है. और इसे हिंदी में सीलनभरी जगह को दुरुस्त करना बोलते हैं।

DPC act as a barrier through the structure designed to prevent Water Rising by the capillary action such phenomenon known as rising damp. 

Rising damp or the presence of penetrating damp can be caused by the absence of DCP or DPM. The DPC layer is generally laid below all masonry walls.

Damp proofing is Defined by the American Society for testing and material (ASTM) as the material that resists the passage of water. 

Rising damp is caused by capillary action drawing moisture up through the porous element of building structure like a brick wall. Read also = PCC Full Form In Civil Engineering

What is Full Form Of DPC In Civil Engineering In Hindi?

The DPC ka full form is damp proof course it is a layer of waterproof material in the wall of a building near the ground to prevent rising damp. Damp-proof course (DPC) is generally applied at the basement level of ground and plinth which restrict the movement of moisture through the wall and floors.
DPC meaning in civil engineering

The DPC is a damp proof layer of waterproof material used in the Wall of the building near the ground to prevent rising dampness.

History Of DPC In Hindi

  • DPC विक्टोरियन युग के दौरान समीक्षाओं में पाया जाता है और आमतौर पर 19 वीं शताब्दी के आसपास के भवन निर्माण में।
  • निर्माण में नम प्रूफिंग या नम सबूत आंतरिक अंतरिक्ष में पारित होने से रोकने के लिए दीवारों और फर्श के निर्माण के लिए लागू नमी नियंत्रण उपकरण का प्रकार है।
  • नमी की समस्या इतनी अप्राकृतिक लगती है, यह आपके भवन के आंतरिक और बाहरी डिजाइन को फीका कर देती है और इसे जीवन का एक अंश प्रदान करती है।

Read also = RCC Full Form In Civil Engineering

DPC full form in construction building and waterproofing

The DPC is the damp proof course. Generally, a DPC layer is provided at the ground level of a structure like a building, Dam, Bridge water sewage plant, water treatment plant, etc.

Building construction DPC is generally provided at the height of 400 mm maximum up to the level of flooring or top of the plinth thicknesses of 

The DPC layer is about 40 mm to 50 mm if cement concrete mortar is used as a DPC layer which is mixed with some additive material and applying two coats of a thin layer of hot bitumen.

Which type material used in DPC?

डीपीसी वॉटरप्रूफिंग सामग्री को मोटे तौर पर उनके उपयोग लचीलेपन और कठोरता के अनुसार निम्न श्रेणी में वर्गीकृत किया गया है।

1. Flexible Material:- Flexible material content butyl rubber, hot bitumen commonly known as Asphalt, plastic sheets like polyethylene, bituminous felts, sheets of Lead, etc

2) Semi-Rigid Material:- Materials like mastic, asphalt, or a combination of materials or layers.

3) Rigid material:- Number 1. class brick, stones, slate, cement concrete, etc.

Read also = PNR Full Form In Railway In Hindi

Properties of material for DPC

  • Damp proof material should be free from deliquescent salts like sulfate nitrate and chloride.
  • It should be impervious.
  • Damp proofing material should be strong and durable and should be capable of withstanding both dead and live load of a structure without damage.
  • Damp proofing material should be dimensionally stable.

What are the types of DPC In Hindi

डीपीसी को मोटे तौर पर तीन प्रमुख श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है जो नीचे दी गई हैं।

1. DPC

2. DPM

3. Integral damp proofing

1. DPC:- DPC केशिका क्रिया द्वारा बढ़ती नमी को बचाने के लिए डिज़ाइन की गई संरचना के माध्यम से एक बाधा है जैसे कि बढ़ती नम के रूप में ज्ञात घटना के माध्यम से। डीपीसी परत आमतौर पर सभी चिनाई वाली दीवारों के नीचे रखी जाती है जिसे आमतौर पर डीपीसी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है जिसे डीपीसी डामर के रूप में जाना जाता है।

2. DPM:- DPM फुल फॉर्म नमी संचरण को रोकने के लिए लागू पॉलीथीन प्लास्टिक शीट की तरह एक नम सबूत झिल्ली सामग्री है।

3. Integral Damp Proofing:- कंक्रीट मिश्रण में पानी के लिए अभेद्य बनाने के लिए कुछ अतिरिक्त योज्य सामग्री का उपयोग शामिल है।

Read also = BRC Full Form In Education Department In Hindi

Read also = Full Form Of KYC In Banking Sector

Read also = MLA Full Form In Hindi

आप इस video के जरिए भी DPC का फुल फॉर्म जान सकते हैं?

FAQS For DPC Full Form In Civil Engineering

Q1. DPC का उपयोग कहाँ कहाँ किया जाता है?

DPC का उपयोग आमतौर पर तहखाने के स्तर के लिए किया जाता है, जो दीवारों और फर्श के माध्यम से नमी की गति को प्रतिबंधित करता है।

Q2. DPC कितनी ऊंचाई पर होती है?

DPC आमतौर पर एक संपत्ति की दीवारों में निर्मित झिल्ली द्वारा बनाई जाती है, आमतौर पर जमीन के स्तर से 150 मिमी ऊपर, दीवारों के माध्यम से बढ़ती नमी को रोकने के लिए।

Q3. What is dpc full form in education in hindi?

The DPC full form in education is Departmental Permission Certificate.

Q4. What is DPC full form in govt job?

The DPC full form in govt job Departmental Promotion Committee.

Conclusionदोस्तों आज के article में हमने DPC Full Form In Civil Engineering में क्या होता है? के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में, DPC से जुड़े सभी सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट में पढने को मिल जायेंगा।DPC Full Form In Civil Engineering पर दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी आप हमे comment द्वारा बता सकते है इसके अलावा अगर आपका कोई सवाल या फिर सुझाव हो तो वो भी हमे जरूर बताएंं।

Leave a Comment