KYC Full Form In Banking Sector – KYC Full Form In Hindi और English में क्या होता है?

दोस्तों आप लोगों ने KYC का नाम तो सुना हि होगा, जब भी आप लोग किसी भी shop पर जाते है तो आप लोगो ने Paytm KYC तो देखी हि होगी तो दोस्तो आज हम आपको Full Form Of KYC In Banking Sector और KYC Ka Full Form In Hindi and English के बारे में पुरी जानकारी देने वाले है।
 
Full Form Of KYC In Banking Sector | KYC Full Form In Hindi and English
Full Form Of KYC In Banking Sector | KYC Full Form In Hindi and English
 

What is KYC Full Form In Hindi?

KYC का फुल फॉर्म Know Your Customer होता है, और इसे हिंदी में आपके ग्राहक को पता बोलते है। 
 
KYC एक ग्राहक की पहचान स्थापित करने के लिए विवरण एकत्र करने के लिए बैंक या वित्तीय संस्थान या संस्था द्वारा पीछा की जाने वाली प्रक्रिया है। 
 
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा केवाईसी प्रक्रिया का उत्पादन मनी लॉन्ड्रिंग, पहचान की चोरी और अवैध लेनदेन जैसे वित्तीय धोखाधड़ी को रोकने के लिए किया गया था। 
 
भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा केवाईसी प्रक्रिया का पालन करने की सलाह दी गई है।
 
खातों को खोलते समय बैंकों को यह धोखाधड़ी करने वाले ग्राहकों से बचाता है जो धोखाधड़ी वाले लेनदेन करने के लिए अपने नाम, पते और जाली हस्ताक्षर का उपयोग कर सकते हैं।
 
बैंकों ने जैसे हि वित्तीय संस्थानों के ग्राहकों को प्रामाणिक विवरण प्रदान करना चाहिए ताकि बैंक अपने ग्राहकों की पहचान कर सकें और उन्हें बेहतर तरीके से सेवा दे सकें।
 
 

Types of KYC In India | केवाइसी कितनी प्रकार कि होती है

KYC के दो प्रकार कि होती है अभी हम उनी दोनों के बारे में बताया गया है।
  • EKYC
  • CKYC
 

EKYC Full Form and Meaning

EKYC का फुल फॉर्म Electronic Know Your Customer होता है। यह डिजिटली तरीके से customer केवाइसी के बारे में जानने का तरीका है या ज्यादातर आधार बेस्ड ई-केवाईसी होता है।
 
ई-केवाईसी में फिजिकली कोई भी डिवाइस पर अपना अंगूठा रखना होता है जिसमें आपको पूरा data fatch होके सामने आ जाता है।
 
Aadhaar EKYC एक कागज रहिती (paperless) केवाइसी प्रक्रिया होती है, जो आपकी पहचान (ID Proof), पता (Address Proof) व अन्य विवरणों का प्रमाण electronic माध्यम से प्रमाणित करता है।

CKYC Full Form and Meaning

CKYC का फुल फॉर्म Central Know Your Customer होता है। CKYC is also known as Central CKYC in short form.
 
KYC भारत के सभी बैंक और वित्तीय संस्थाओं द्वारा किया जाता है। लेकिन जो केवाइसी केंद्रीय स्तर पर किया जाता है।
 
उसे हम Central KYC या CKYC कहते हैं, Central KYC का उपयोग बिमा कंपनियों, म्यूचुअल फंड्स कंपनियों तथा NBFC आदि के द्वारा किया जाता है।
 
 

How can I get KYC verified? | मैं केवाईसी सत्यापित कैसे कर सकता हूं?

कोई भी ग्राहक जिसने केवाईसी फॉर्म ऑनलाइन जमा किया है तो पैन कार्ड केवाईसी स्थिति की जांच कर सकता है। 
 
पैन कार्ड केवाईसी अपडेट की स्थिति को ट्रैक करने के लिए आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा।
 
व्यक्तियों को भारत की CDSL (Central Depository Services Limited) वेबसाइट पर log in करना होगा।
 
एक बार जब वे साइट पर जाते हैं, तो उन्हें अपना पैन नंबर दर्ज करना होगा।
 
अगर वहाँ सत्यापित किया गया है, तो स्थिति विज्ञापन Verified MF – सत्यापित द्वारा CVLMF ’प्रदर्शित की जाएगी।

KYC meaning in Hindi क्या होता है

KYC का मतलब अपने ग्राहक को जानें। यह एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा बैंक ग्राहकों की पहचान और पते के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 
 
यह प्रक्रिया यह सुनिश्चित करने में मदद करती है कि बैंक की सेवाओं का दुरुपयोग न हो। केवाईसी प्रक्रिया को बैंकों द्वारा खाता खोलते समय पूरा किया जाना है और साथ ही प्रतिवर्ष अपडेट करना है।
 

How to apply KYC?

They are two methods to apply for KYC.
  • Online method to apply KYC
  • Offline method to apply KYC

 

How to apply KYC offline method

You can go to MP online take only 10 to 20 rupees do full KYC without any problem. You can take the document PAN card, Voter ID. I am also going to MP online KYC successfully without a problem KYC did.
 

What are the KYC documents required ?

  • Customer Name 
  • Date of Birth
  • Father’s Name
  • Mother’s Name
  • Address Proof
  • Identity Proofs
  • Contact No.
  • PAN Card
  • Source of the Funds
 
KYC के लिए आपको एक Form मिलता है इस Form को भरकर आपको इसके साथ अपना Aadhar Card और Address Proof की Photo Copy भी देनी होती है. फिर इसे ले जाकर आप अपने बैंक में जमा करा सकते हैं.
 
 

KYC Documents required for Companies or  Partnership Firms

  • Entity Proof
  • Address Proof of company
  • Address
  • Identity proof of Directors
  • Authorized signatories
 

What are the KYC documents required for Individual 

  • Passport 
  • Voter’s Identity Card 
  • Driving Licence
  • Aadhaar Letter/card 
  • NREGA card 
  • PAN card 
A person is required to submit any one or two of the said documents like identity proof and address proof.
 
 

KYC कि ज्यादा तर किस्को जरूरत पड़ती है? | Who needs KYC ?

 KYC is a mandatory practice for financial institutions and other related businesses. Companies must comply with the regulations or may face fines or penalties from authorities. The following are some examples of enterprises which need to incorporate KYC
  • Real estate business
  • Banks and their respective subsidiaries
  • E-commerce
  • Dealers of precious metals
  • Insurance companies
  • Casinos and online gaming
  • Virtual currency businesses
 
 
FAQS Questions For Full Form Of KYC
 
Q1. What are the documents needed for individual KYC?
  • Passport 
  • Voter’s Identity Card 
  • Driving Licence
  • Aadhaar Letter/card 
  • NREGA card 
  • PAN card 
A person is required to submit any one or two of the said documents like identity proof and address proof.
 
 
Q2. Why is KYC important in Hindi?
 
केवाईसी बैंकों के लिए काफी महत्वपूर्ण है ताकि वे अपने ग्राहकों की जानकारी को अपडेट रखें और उन्हें सर्वोत्तम तरीके से सेवा देना सुनिश्चित कर सकें।
 
बैंकों में केवाईसी दिशानिर्देशों का उद्देश्य बैंकों को मनी लॉन्ड्रिंग गतिविधियों के लिए आपराधिक तत्वों द्वारा, जानबूझकर या अनजाने में इस्तेमाल होने से रोकना है।
 
संबंधित प्रक्रियाएं बैंकों को अपने ग्राहकों और उनके वित्तीय व्यवहार को बेहतर ढंग से समझने में सक्षम बनाती हैं। इससे उन्हें विवेकपूर्ण तरीके से अपने जोखिमों का प्रबंधन करने में मदद मिलती है।
 
बैंक से गुजरने वाली अवैध गतिविधि के जोखिमों को कम करें। बैंक अपने ग्राहकों को समझते हैं और उन्हें बेहतर सेवा देने के लिए अपने वित्तीय लेनदेन के बारे में अधिक जानते हैं।
 
केवाईसी का महत्व निवेशक की दृष्टि से भी स्पष्ट है। हालांकि ये कठोर जांच निवेशक के लिए एक बोझिल प्रक्रिया हो सकती है, लेकिन वे कंपनी के साथ वित्तीय या निवेश गतिविधियों को सक्षम करने के लिए एक सुरक्षित और भरोसेमंद वातावरण बनाते हैं।
 
 
Q3. Paytm KYC customer care number?
 
The Paytm customer care number is 0120 4456 456.
 
Conclusion
Aapko Hamari Aaj ki post kaisi lagi? Aaj ham aapko bataya ki KYC Kya Hoti Hai, KYC ka Full Form, full form of kyc in banking sector आदि जानकारी दि गई है।
 
दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको article लगा आप हमे comment द्वारा बता सकते है इसके अलावा अगर आपका कोई सवाल या फिर सुझाव हो तो वो भी हमे जरूर बताएं।

Leave a Comment