PMO Full Form In Hindi kya hota hai

By | September 25, 2021

नमस्कार दोस्तों PMO full form in hindi के दो सबसे पोपुलर full form है जिन्हें generally use किया जाता है आज हम इनी दोनों का फुल फॉर्म बताने वाले है।
भारत देश में लाखों प्रकार के full form का उपयोग होता हैं इसके बारे मे आप जानते ही हैं उसी में से PMO भी उसमे से ही एक हैं हर व्यक्ति को पीएमओ का फुल फॉर्म In Hindi क्या हैं इसका पता होना बहुत जरुरी हैं क्युँकि भविष्य मे कई बार इस श्ब्द का उपयोग होता हैं।
दोस्तों अगर आपने के बारे में सूना है तो आपके मन में यह ख्याल तो जरूर आया होगा की आखिर PMO क्या है, PMO Full Form क्या होता है। की PMO Full Form क्या होता है, तो चलिए आइये जानते है की PMO Full Form In Hindi क्या होता है और PMO क्या होता है, पिएमओ का पुरा नाम क्या है

Read also = DD news ka full form kya hota hai

PMO ka Full Form In Hindi kya hota hai

Prime Minister Office (PMO) is the principal workplace of a Prime Minister. It consists of multiple levels of support staff reporting to the Prime Minister.
दोस्तों, जैसा की में आपको पहले भी बता चुका हूं की कुछ ward भी होते है जिन्हें एक से ज़्यादा फुल फॉर्म है लेकिन हम यहां कुछ comman फुल फॉर्म के बारे बात करेंगे।
राजनीती करने वालों के लिए PMO Full Form is ‘Prime Minister’s Office’ होता है, पीएमओ का हिंदी में पूरा नाम ‘प्रधान मंत्री कार्यालय’ होता है। प्रधान मंत्री कार्यालय यानी कि (PMO) भारत के प्रधान मंत्री के तात्कालिक कमचारियो के साथ ही प्रधानमंत्री को रिपोर्टिंग स्टाफ के स्तर होते है।
आधिकारिक तौर पर, यह एक ओर प्रधानमंत्री और उनके मंत्रियों के बीच की कड़ी है और दूसरी ओर राष्ट्रपति, राज्यपालों, मुख्यमंत्रियों और विदेश प्रतिनिधियों के बीच।
अभी के समय में देश के प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी जी है तो इस कार्यालय में वो और उनकी टीम बैठती होती है। फिल्मों की अध्यक्षता प्रमुख सचिव, वर्तमान में प्रमोद कुमार मिश्रा कर रहे हैं। पिएमऔ को मूल रूप से 1977 तक प्रधान मंत्री सचिवालय कहा जाता था। 
जब इसका नाम बदलकर मोरारजी देसाई मंत्रालय रख दिया गया था। यह तो भारत सरकार के सचिवालय भवन के दक्षिण ब्लांक में स्थित है।
Read also = DJ Full Form In Hindi kya hota hai

PMO के कार्य क्या क्या होते हैं?

प्रधान मंत्री के कार्यालय में नित दिन बहुत से कार्य  किये जाते है लेकिन हम यहां पर प्रधान मंत्री से सम्बंधित कार्य की सुची बना रहे है। प्रधान मंत्री के व्यक्तिगत ध्यान की आवश्यकता वाले कुछ महत्वपूर्ण मामले भी शामिल होते हैं।

  1. देश की रक्षा संबंधी महत्वपूर्ण मुदे इसी कार्यालय से कितने जाते हैं।
  2. विदेशों में भारतीय प्रमुखों की नियुक्ति के लिए प्रस्ताव और भारत में तैनात प्रमुखों के विदेशी प्रमुखों के लिए समझोते करते हैं। 
  3. कैबिनेट सचिवालय से संबंधित सभी महत्वपूर्ण निर्णय PMO office से किये जाते है। 
  4. भारतीय प्रशासनिक सेवा और अन्य सिविल सेवा और प्रशासनिक सुधारों के प्रशासन से सम्बंधित सभी नितिगत मामले। 
  5. प्रधान मंत्री द्वारा राज्यों के लिए घोषित विशेष पैकेज की पिएमऔ में कि जाती है और प्रधानमंत्री को समय-समय पर रिपोर्ट सौंपी जाती है।

Read also = MRP Full Form In Hindi kya hota hai

What is a PMO Administrator?

The Prime Minister’s Office (PMO) consists of the immediate staff of the Prime Minister of India, as well as multiple levels of support staff reporting to the Prime Minister. 
The PMO is headed by the Principal Secretary, currently Nripendra Misra. The PMO was originally called the Prime Minister’s Secretariat until 1977, when it was renamed during the Morarji Desai administration. 
Read also = KYC Full Form In Hindi kya hota hai
Second PMO Full Form

PMO Full Form In Hindi क्या होता है?

Project management is the practice of initiating, planning, executing, controlling and closing the work of a team to achieve specific goals and meet specific success criteria at the specified time. For example, a building or a major new computer system.
बिज़नस मैन के लिए PMO Full Form ‘Project Management Office’ होता है और इसे हिंदी में ‘प्रोजेक्ट मैनेजमेंट आफिस’ कहते हैं। व्यापारियों के लिए पीएमओ का मतलब “परियोजना प्रबंधन कार्यालय” होता है।
परियोजना प्रबंधन कार्यालय पीएमओ एक विभाग या समूह है जो किसी संगठन के भीतर परियोजना प्रबंधन से सम्बंधित मानकों और प्रक्रियाओं को बनाए रखता है। किसी भी बिजनेस के लिए उसमें उसकी कंपनी में सभी प्रोजेक्ट पर चल रहे कार्यों का management करना ही होता है।
Read also = MLA Full Form In Hindi kya hota hai

बिज़नस में पिएमओ के क्या फायदे है

  1. संगति को बढ़ाना 
  2. निर्मल बने रहना 
  3. सभी को अपनी knowledge को शेयर करने का मौका 
  4. सभी प्रोजेक्ट पर एक साथ काम और नजर होना 
  5. आसानी से सभी प्रोजेक्ट पर जांच और विश्लेषण करना 
  6. बेस्ट सभी ग्राहकों के पुरी जानकारी होना

What is the PMO role in project management?

A project management is a professional in the field of project mgmt. He has the responsibility of planning. Procurement and execution of a project. 
Project supervisor are the primary factor of touch for any problems or discrepancies bobbing up from with withinside the heads of numerous departments in an business enterprise earlier than the trouble escalates to higher authorities. 
As the single point of responsibility he integrates and coordinates all the contribution and guide them to successfully complete the project. 

Responsibilities of PMO 

1. Developing the project plans 2. Managing the project stakeholders 3. Managing the communication 4. Managing the project team5. Managing the project schedule 6. Managing the project budget 7. Managing the project conflicts8. Managing the project delivery 

A project management office is a collection or branch inside a business, authorities agency, or agency that defines and continues requirements for mission control in the organization. The PMO strives to standardise and introduce economies of repetition with inside the execution of projects.

PMO Full Form In Medical In Hindi

पीएमओ फुल फॉर्म मेडिकल झेत्र में फॉस्फोरोडियमिडेट मॉर्फोलिनो ओलीगोमर (पीएमओ) जीन अभिव्यक्ति को संशोधित करने के लिए आणविक जीव विज्ञान में उपयोग किए जाने वाले ऑलिगोमेर अणु का प्रकार होता है।

Conclusion

दोस्तों आज हमने आपको इस article में‌ PMO से संबंधित सभी जानकारी देने की पूरी कोसिस की है जैसे की PMO Full Form In Hindi kya hota hai, What is the form form of PMO आदि में कितनी सारी नई जानकारी बताई गई है।

PMO पर दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी आप हमे comment द्वारा बता सकते है इसके अलावा अगर आपका कोई सवाल या फिर सुझाव हो तो वो भी हमे जरूर बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *